prem kavita,प्रेयसी पर कविता अहसास हिंदी कविता[2022

Spread the love

prem kavita,प्रेयसी पर कविता अहसास हिंदी कविता[2022

सर्व प्रेम की लता पर सभी फूल नहीं खिलते।
सभी जीव उतना नहीं लगाते जितना हमें लगाना चाहिए।
हम जानते हैं कि प्रेम जैसा कोई बंधन नहीं है लेकिन हम सभी प्रेम के बंधन को जानते हैं।
हर कोई तब तक नहीं रुकता है जब तक ..

हा प्यार की पुकार सुनी गई, सपने साकार हुए,
दिल मुस्कुराया जब मैंने तेरी आंखों में अपना प्यार देखा।

प्यार में मत रहो आका प्यार में नहीं होना चाहिए
ईर्ष्या एक दूसरे पर भरोसा है प्यार की उम्मीद है

prem kavita,2
prem kavita,2

प्यार में यूँ ही रुकना नहीं पड़ता,
बिना पीछे मुड़े आगे बढ़ना पड़ता है..prem kavita,

प्यार के आंसू और बच्चे के आंसू एक जैसे होते हैं क्योंकि ये दोनों जानते हैं
कि दुख क्या होता है लेकिन एंगल नहीं बता सकते.

शिव प्रेम तब तक मीठा नहीं होगा जब तक आप प्यार में थोड़े गुस्से में नहीं होंगे
और उस उपहार के महत्व को तब तक नहीं जान पाएंगे जब तक आप क्रोधित होकर चले नहीं जाते।

prem kavita,3
prem kavita,3

नसते जब प्यार में प्यार नहीं होता,
तो सजा हमेशा प्यार में होती है।prem kavita,

प्यार में पड़ गए तो क्या होगा..!
दिन-रात एक ही चेहरा तेरी आंखों के सामने आ जाएगा, ख्वाब में भी तुम उससे
अभिभूत हो जाओगे. प्यार, ऐसा होगा..!

prem kavita,प्रेयसी पर कविता अहसास हिंदी कविता

prem kavita,4
prem kavita,4

रिश्ते में प्यार डालना प्यार के लिए खतरनाक है,prem kavita,
लेकिन अगर ऐसा नहीं है तो लोगों की नजर में यह पाप बन जाता है।

प्रिया :- प्रेम के प्रतीक बादाम हमेशा अपने पास से गुजरते हुए तीर क्यों दिखाते हैं ?
प्रिय :- जैसे सड़क पर ट्रैफिक का चिन्ह चालक को चेतावनी देता है,
वैसे ही प्यार में पड़ने की कोशिश कर रहे दोस्तों के लिए यह चेतावनी है कि पिता प्यार में पड़ रहे हैं

प्रिया :- क्या तुम मुझे जीवन भर प्यार करोगे ?
प्रियतम: नहीं, मैं तुम्हें जीवन भर प्यार करूंगा

बस उन्हीं की याद में वो कहीं दूर है..
बस मेरे आने का इंतज़ार है… नहीं, मैं उसे नहीं जानता हे.
सिर्फ मेरे लिए जी रहे हैं…prem kavita,
उस अनकहे प्यार को पढ़कर, अब भी देख रहे हैं

फूल कभी नहीं कहता कि सुगंध हमेशा हवा में तैरती रहती है,
क्योंकि वह यह भी जानता है कि कितनी भी दूर जाए, वह फूल है

फूल होना कली होना है और प्रेम करना जन्म लेना है

फूलों पर भी भरोसा मत करो, उन पर भरोसा मत करो,
गलती से आप उनके दिल को अपने होठों से छू लेंगे,
लेकिन वे आपकी मासूमियत का फायदा उठाएंगे

प्रेम कविता शायरी

Birthday Wishes For Brother In hindi 

Happy birthday wishes in hindi

एक बंद घर में बंद,
गौरैया कांच की खिड़की पर पटक रही थी।

कदाचित प्रेम प्रेम प्रेम prem kavita,

prem kavita,5
prem kavita,5

तुझे दूर से देखता हूँ, रात को नींद नहीं आती,
तेरे आस-पास कोई और शौक नहीं बचा

बर्फीली ठंड के बीच आपका आलिंगन मधुर लगता है।
एक जन्म में जीवन, एक क्षण में जीवित महसूस करना ٠٠ ••

मेरी उँगलियाँ अब जुदा होना पसंद नहीं करती..
वो तेरी ऊँगली को उलझाए बिना ऐसा नहीं करते….

आप बात नहीं करते हैं, लेकिन जब आप मुस्कुराते हैं,
तो मैं देखता हूं कि आप वास्तव में शर्म से प्यार करते हैं?
तुम मुझे इस तरह क्यों उलझा रहे हो?

मैं बोल नहीं सकता औरprem kavita,
मैं तुमसे कितना प्यार करता हूँ छुपा नहीं सकता शोर भी छुपा नहीं सकता

आसमान भरो, चाहे कितने भी बादल हों, सच्चे प्यार के आगे वो बादल बरसेंगे,
लाख विघ्न आने दो,prem kavita,
लेकिन एक बार मेरे प्यार के आगे झुकेंगे जरूर..

ऐसा कुछ भी नहीं था जो मैंने इसका
कारण बनने के लिए किया था।

बेझिझक अपनी भावनाओं को व्यक्त करें,
उन्हें व्यक्त करने में मज़ा आता है…
आपकी आँखों में हमेशा आँसू आते हैं,
उन्हें पोंछने में मज़ा आता है मुस्कान

तुम्हारा प्रेम कविता prem kavita,

शब्दों का प्रयोग भावनाओं को समझने के लिए किया जाता है
और हृदय को मन को मिलाने के लिए बुलाया जाता है

एक पागल आदमी भावनाओं के दूर गाँव में रहता है।

भावनाओं को कागज पर उतारना
उतना आसान नहीं होता जितना कि आंसू छुपाना।

जो हवा भीग चुकी है… ..
जो ओले पलटे हैं वो बेसुध हो गए हैं।
पीओ और भीग जाओ ……prem kavita,
आओ, आओ मुझे प्यार का स्वाद दो

जब तुम मुझे देखते हो तो तुम्हारे विचार मेरे मन में होते हैं,
जब तुम मुझसे स्पष्ट रूप से बात करोगे,
तो मैं उसका इंतजार करूंगा।prem kavita,

तिच्य मैंने उसके एक स्पर्श में वही प्यार
मांगा जिसने मुझे बताया कि कोमलता क्या है

मन को गीला मत होने देना, जब सही समय पर बारिश हो..

कितनी यादें हैं मन में…
वक्त के साथ वो फीकी पड़ जाती है मान, तुम जैसे बहुत कम लोग होते हैं…
जो दिल में घर बनाते हैंprem kavita,

आप मन में हैं, लेकिन आप जीवन में नहीं आए हैं।
आपने दिया है, लेकिन आप दुनिया में नहीं आए हैं।
तुम एक फूल हो। लेकिन तुम सुगंध देने नहीं आए हो।
तुम दिल की धड़कन में हो,

पर तुम मेरी जिंदगी में नहीं आए।
पर मेरी सांसे तेरे बिना नहीं रह सकती।
अपने प्यार पर विश्वास किया लेकिन तुमने मेरे प्यार को धोखा दिया।

मन में न होने पर भी क्या आप पीछे मुड़कर देखेंगे?
मैं आपके लिए रुक गया। क्या आप यहां दो शब्द कह सकते हैं?
मैं इसे देखकर थक गया हूं, क्या मैं इसे देख पाऊंगा? लग रहा है
कि हमारे पास भावनात्मक रूप से ‘गैस से बाहर’ है?

क्या मेरा सपना देखने वाला मन तुम्हारे जैसा हो गया?
क्या आप अपने मन के बिना कबूल करेंगे?

धु मन में गहरे भावों का कोहरा,prem kavita,
तेरी जिद में खोया, मेरी बातें भी खामोश हो गईं।

मन में जान लेता तो शब्दों को जोड़ना नहीं पड़ता,
शब्द जोड़कर संसार को नहीं छोड़ना पड़ता।

ईश्वर प्रेम पर कविता

बोल मन की बातें होठों तक नहीं आती.
कभी-कभी आप अलगाव से डरते हैं. जब आप होते हैं,
तो बात करने के लिए बहुत कुछ होता है.prem kavita,

आपको अपने मन की हर बात बताने के लिए आपके सामने एक समान विचारधारा वाला व्यक्ति होना चाहिए। .
फिर भी, एक का मालिक होना अभी भी औसत व्यक्ति की पहुंच से बाहर है

मैं तुम्हारे उदास और बेचैन मन को जानता हूँ
पर हर पल तुम्हारी याद में खो जाता हूँ

मुझे आपकी मुस्कान चाहिए मुझे आपकी मुस्कान चाहिए
जब आप आसपास न हों तब भी मैं आपकी बनना चाहता हूं

मुझे अपने दिल में ढूंढो, मैं तुमसे वहीं मिलूंगा,
मैं कैसे रह सकता हूं, अगर मैं तुमसे दूर हूं

मैं सोचा करता था कि प्यार मन की एक मृगतृष्णा है
और यह सिर्फ एक विचार है जो बिल्कुल भी नहीं है,
लेकिन जब से मैंने तुम्हें देखा है तब से मुझे प्यार का एहसास होने लगा है,

यह कोई मृगतृष्णा नहीं है बल्कि यह सच है,
नहीं बस इतना ही लेकिन मैं यह भी जानता हूं कि प्यार तुम्हारे और मेरे दिल में है,
कहीं और नहींprem kavita,

दावा यह दावा है कि मैं पागल हूँ एक संघर्ष है
मैं पागलों की तरह अभिनय कर रहा हूँ, यह प्यार का जादू है !!

मैं यह भी नहीं जानता कि तुम कब मेरे हो गए।

मुझे भी लगता है कि तुम क्या सोचते हो फिर हम चुप क्यों हैं..
क्योंकि दिल के होठों पर आने में और होठों पर जो आ गया है उसे बयां करने में वक्त लगता है.

पहले प्यार की कविता

उसके बाद भी जो नहीं मिलता वो सच्चा प्यार है।
जिसे आप मन में रखते हुए भी नहीं दे सकते वो है सच्चा प्यार। सच्चा प्यार तो वही होता है
जो बहुत कुछ समझाने के बाद भी भटक जाता है।
ऊर्ध्वाधर संकट में भी जो शांत है वही सच्चा प्यार है।
छलक जाए तो भी जो भरा है वही सच्चा प्यार है।

prem kavita,
भूल जाने पर भी जो याद रहता है वही सच्चा प्यार है।
ऊपर मुस्कुराओ तो भी भीतर जो रो रहा है वही सच्चा प्यार है।
आंखें बंद कर भी लें तो जो दिखता है वही सच्चा प्यार है।
जिसे चाह कर भी नहीं मांग सकते वो सच्चा प्यार है।
खाना मांगने पर भी जो मिलता है वही सच्चा प्यार है।

मेरा सपना है तुम्हारे साथ रहना, हाथ में हाथ मिलाकर चलना,
उसी दिशा में चलना, मेरा सपना है तुम्हें करीब से देखना, तुम्हें करीब ले जाना,
तुम्हें एक बार गले लगाना, मेरा सपना है तुम्हारे साथ रहना, निर्माण करना एक छोटा सा घोंसला,

उसमें रहने के लिए, हाँ अल जो मुझे बहुत बकवास लगता है, ऐसा लगता है कि बीटी मेरे लिए भी नहीं है,
ऐसा लगता है कि बीटी मेरे लिए भी नहीं है,
ऐसा लगता है कि बीटी मेरे लिए भी नहीं है

प्रेयसी पर कविता prem kavita,

तो मैं अपने सपने देखता हूं, हमेशा सपने में जागता हूं, तुम वही हो, मैं ही हूं,
आंखों से बोलता हूं, स्पर्श से खिलता हूं, प्यार भी वही है।
लेकिन आज हम चारों तरफ खुशियों की चारदीवारी से घिरे हैं,
हमारा छोटा सा ब्रह्मांड, हमारे लिए अंत। प्यार की इस दुनिया में,

सुस्त भविष्य एक सुंदर मीठा सपना है, आपके प्यार में पड़ना!
सुबह-सुबह कितने सपने सुनाता हूँ।
तेरी बाँहों में मेरे प्यार की कली खिल जाए…..prem kavita,

शब्द हमेशा मेरा सहारा बनने के लिए तैयार रहते हैं,
जैसे आपकी यादें मेरी बीमारी बनने के लिए तैयार हैं

मेरी साँसे तो बस तेरे ज़हन में बहती है,
तेरी दी हुई साँसों में मैं अपनी ज़िंदगी जीता हूँ

वाच मेरी prem kavitaपढ़ते हुए……
आँखें हमेशा लुढ़कती हैं, उसके जीवन के धागे मेरे जीवन से मेल खाते हैं

“मेरी आँखें, यह तुम्हारी होनी चाहिए”।prem kavita,
तभी तुम जान पाओगे कि तुम मेरी आँखों में कितनी खूबसूरत हो, मेरा दिल, तुम्हारा होना चाहिए………
तभी तुम मेरे दिमाग से हर पल निकल रही आवाज (आई लव यू) को सुन पाओगे

प्रेम कविता sms

तुम्हारे लिए मेरा प्यार एक कागज के टुकड़े की तरह है,
एक कागज का टुकड़ा जिस पर आप अपनी भावनाओं को लिख सकते हैं,
अपने गुस्से को खरोंच सकते हैं, मुझे अपने आँसू पोंछने के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं, बस मुझे इस्तेमाल करने के बाद फेंक न दें,
क्योंकि मैं बनना चाहता हूं तुम्हारे साथ हमेशा के लिए …… ..prem kavita,
लेकिन हाँ, अगर आपको बहुत ठंड लगती है, तो आप मुझे गर्म करने के लिए जला सकते हैं ……… ..

किंमत तुम मेरे आँसुओं की कीमत कभी नहीं जानते थे,
तुम्हारे प्यार की आँखें हमेशा दूसरी तरफ मुड़ती थीं।

मेरी यादें आपके साथी से जुड़ी हैं।
तुम मेरे साथ हो, कि हर याद मधुर हो।

नेहमी मुझे हमेशा अपनी उंगलियों से तेरी यादों के पंख उड़ाने चाहिए…

भाषा क्या तुम्हारी आंखें मेरी आंखों की भाषा बोल सकती हैं?
क्या सावी जैसा दोस्त मेरे साथ चलेगा?

अहसास हिंदी कविता

प्रत्येक मेरी हर सांस में तेरी यादों की महक आती है दूर देखो

ते तुम ठीक-ठीक जानते हो कि मेरे मन में क्या है..
मुझे पता है, फिर तुम मुझसे बार-बार क्यों पूछते हो!

मेरी बातों का अब भी कोई मतलब नहीं है।
जब तक वह गाना आपके होठों को नहीं छूता।

मेरी परछाई में तेरी यादों की आदत है..
तेरी उन्हीं यादों को समेटने की..उम्मीद करने के लिए क्षितिज के समानांतर हो..
अपने साथ अकेलेपन को बांटना..यादों में जीना अब आदत सी हो गई है तुम्हारे बिना ..

तूने मेरी भी मुस्कान बनाई prem kavita,

मेरे पास कोई कारण नहीं है कि तुम मुझसे प्यार करते हो ..
मेरे पास कोई सबूत नहीं है कि मैं तुमसे प्यार करता हूं ..
मेरे पास कोई उपाय नहीं है, मुझे तुम पर इतना भरोसा है ..
मेरे पास बस इतना ही है कि मैं आखिरी सांस तक तुम्हारा हूं ..

मुझे देखो, जब कोई फूल मुस्कुराता है, सच बोलो……
मुझे उसमें तुम्हारा चेहरा दिखाई देता है।

अधिकार मुझ पर आपका अधिकार, मुझे अब और नहीं चाहिए,
मुझे अब और नहीं चाहिए!prem kavita,

जग मेरे साथ रहते हो तो कितने भावुक हो जाते हो,
सब कुछ देकर कितने खाली हो जाते हो

मेरे लिए, प्यार एक बड़ी जिज्ञासा है

विश्वास मैंने आप पर जितना भरोसा किया उससे
अधिक मुझे पता था कि यह एक उधार की सांस थी

पता नहीं हम फिर कभी किसी और राह पर
चलते हुए मिलेंगे या नहीं,prem kavita,
क्या हमारे सितारे एक अलग दुनिया में रहते हुए मिलते हैं

यां मध्ये बंद आँखों में अपना प्रतिबिम्ब।

ना जब तुम प्यार में हो तो ज़रा ठहरो ..
इस ज़िंदगी में भी जो नामुमकिन नहीं है,
ज़िंदगी में आगे यही होना चाहिए.. मेरे प्यारे,
मेरे प्यारे, गणित थोड़ा अलग होना चाहिए..

मैं ऐसा हूं.. मैं ऐसा हूं.. कोई बात नहीं, बस तुम्हारा है..
कभी नहीं मिला..? तोहफा हमेशा तुम्हारा है और मेरा.. गुस्सा तो बहाना है..
प्यार बढ़ाने का ये है नया फॉर्मूला.. याद है, यही वजह है..?
पागल, बिना वजह तुम्हें परेशान करना मेरा स्वभाव है।

मैं आपके दिल की बात खुलकर कहता हूं, मेरा दिल खुला है,
लेकिन मेरी जिंदगी आपसे जुड़ी हुई है,
क्या आप इसे महसूस करते हैं!prem kavita,

? मैं वास्तव में तुमसे प्यार करता हूँ लेकिन तुम अभी भी नहीं जानते कि कैसे

बहुत कोशिश की तुम्हे हमेशा के लिए भुलाने की, पर कौन जाने, किसी न किसी वजह से,
हर बार तुम्हारी आँखों के सामने, तुम्हारा चेहरा हमेशा आया, तुम्हारे ख्यालों से दूर जाने का फैसला किया,
साथ ही मैं तुम्हें याद करता हूँ, तुझे भूलने की आवाज आई,
मुझे तुझसे प्यार हो गया, इसलिए अब तेरी जिंदगी से दूर ना जाने का फैसला किया

च आँख बंद करते ही तेरी याद तेरे साथ आ रही थी।

“मैं बस वहीं इंतज़ार कर रहा था।” दूर मत देखो। प्रीत,
तुम हमेशा मेरे मन की बात क्यों नहीं समझते?

मैंने प्यार किया……..prem kavita,
तेरी ली हर सांस पर, दिल की धड़कन पर, जिस रात तुम जाग कर उठे मुझसे बात करते हुए, मैंने बस प्यार किया…………
मैं बस निःस्वार्थ भाव से प्यार करना चाहता था……..
मैं तो बस पूरे दिल से प्यार देना चाहता था ………
मैं तो बस दिल से प्यार करता था……. दिमाग पर

मैं तुमसे नहीं कहता, मुझे पूरा प्यार दो…
लेकिन तुम जो दो, उसे दिल से आने दो

मुझे उससे प्यार हो गया पर उसे पता नहीं चला कि उसने प्यार को मेरे दोस्त का नाम म्ह कहा..
वो जिंदगी भर दोस्त रहेगा लेकिन प्यार नहीं करेगा,
संकट की घड़ी में साथ देगा लेकिन दुनिया नहीं जीएगा।

गूंगा भावनाओं को फिर शब्दों की जरूरत नहीं थी,
मन के समुद्र को रुकने की जरूरत नहीं थी

णाला जिसे मुख्य हुंडक्य का गीत पता होना चाहिए,
क्या वह खुद को सताता है, वह शुद्ध क्षणों का होना चाहिए,

स भारी बारिश… एक ही हवा में मंडराता छाता…
मेरे दिल में बारिशprem kavita,

ताजी हवा में सांस लें, मुझे फिर से जीवंत महसूस कराएं।
आज चाँद की बिजली देखो, उसकी चमक पर भी ध्यान दो

prem kavita 2022

बड़ा होने के लिए छोटा बनना पड़ता है और जीना पड़ता है,
सुख पाने के लिए दुख के सागर में तैरना पड़ता है

मुझे लगता है कि आपके साथ के पल कीमती हैं लेकिन वे फिर से चले जाते हैं,
मेरा मन बेचैन हो जाता हैprem kavita,

जब सन्नाटा असहनीय हो गया, तो तुमने एक आह भरी।
और फिर अगले ही पल तुमने वो मौन सन्नाटा जोड़ दिया..

मुस्कुराते हुए चेहरे के पीछे अपना दुख छुपाने के लिए मैं अब आपके खलिहान में गाय नहीं हूं।

प्रेम ? प्रेम प्रेम प्रेम प्रेम रंग भविष्य के सपने को चित्रित करना,
आज खुशी से जीना, प्रेम कहलाना ‘अपना’ बनकर जियो, प्यार का मतलब था..

इसे प्यार क्यों कहा जाता है? उसकी यादों का बढ़ता नशा,
और अपने वजूद से ही मुक्त औरत की हर दिशा को प्यार कहते हैं….?
इसे प्यार चा क्यों कहते हैं..?

उसका बेदम अनुभव जो मैंने अनुभव किया, और यह एहसास कि वह मुझे हर पल पागल गपशप कहेगी,
क्या इसे ही प्यार कहा जाता है? मेरी ज़िंदगी जो उसकी याद से बर्बाद हो जाती है,
और मेरी किव जो उसे सबसे ज्यादा प्यार करने के बाद भी उसके पास नहीं आती,

क्या इसे प्यार कहा जाता है….? उसे मेरे प्यार के स्पर्श का आभास भी नहीं था,
और यह सब पढ़कर उसके नाजुक होठों पर मुस्कान की खुशी शायद मोहब्बत कहलाती है..!

मात युद्ध और प्रेम में सब कुछ क्षमा योग्य है
लेकिन मुद्रास्फीति की इस दुनिया में युद्ध और प्रेम अक्षम्य हैं।

प्रत्येक हर परछाई जो आती है तुम्हारी है,
मुझे आशा है कि तुम आओगे।prem kavita,

दिन आपकी याद के बिना कभी बीतता नहीं है,
दिन बीत भी जाता है, आपकी याद नहीं आती।

आसमान में कितने बादल बरस रहे हैं, कितने साहू रे,
मैं तुम्हारे शोक का बादल हूँ।

कोई नर्म दिल की धड़कन से मेरे लिए जाग रहा है

तुम रात में उबाल की तरह उबालते हो,
दिल से उबालते हो सच कहूं तो मैं तुमसे बहुत प्यार करता हूं

आज शाम की रात के फूल खिले,
तेरी यादों की महक मेरे मन में छा जाए।

रात जल्दी बीत जाती है, तुम्हें मेरी बाहों में पकड़कर,
और फिर दिन भर तुम्हें देखते रहना

रात को उठना और सोचना प्यार नहीं है,
सपने में उसके साथ रहना प्यार है..
हाथ में हाथ डालकर चलना प्यार नहीं है,
उसके न होने पर उसके साथ रहना प्यार है..
गुलाब का फूल देना प्यार नहीं है… …..

गी रात को जागकर मैं उस चाँद को देख रहा था,
वो भी मेरी तरह अकेली मुस्कुरा रही थी……..

अत खाली आकाश में चन्द्रमा का जोड़ा है, आप अंतर नहीं देख सकते।
समंदर में सीप में एक मोती होता है जो आसानी से किसी को नहीं मिलता,
ये भी दोस्ती है जो जिंदगी में हर किसी को आती है
लेकिन इसका आकर्षण हर किसी को नहीं होता।

तेरे किरदार के अक्षर मुझ पर पड़ें, मुस्कुरा दें,
मुझे ग़ज़ल बना दें सितारे, नक्षत्रों को भी तेरा हिस्सा मिले,
उनका लगाव भी उनका हो

रुसुन बसने ने बिना कुछ कहे उसे मेरे हाथ में रख दिया जो मुझे बहुत पसंद है।

जैसे रेशमी धागे का बंधन है, सुगन्धित चंदन है,
कभी बरसात में भीग जाता है,
कभी वसंत में मुस्कुराता है,
पास नहीं लगता, दूर नहीं रहता,
प्यार ऐसा ही होता है, ख्याल रखना..

मैं तो रोज़ तुम्हारे बालों के लिए फूल तोड़ रहा
था पर तुमने मेरी साँसों की महक भी नहीं की

एकांत में जाना और अपनी याद में स्वाता को
भूल जाना रोज की दिनचर्या हो गई है

prem kavita,

मैं शादी के बाद आपका नाम बदलने की योजना नहीं बना रहा हूं।
क्योंकि अब मैं इस नाम के बिना नहीं रह सकता!!!

लहरें किना-या से प्यार करती हैं, लेकिन उसने सागर से शादी कर ली है,
किना-या का प्यार उसे खींच लेता है।
लेकिन वह वापस चली जाती है ताकि किना को दाग न लगे। वही सच्चा प्यार है।

तो बस तेरे लिए ही लिख रहा हूँ.. दीवाना हो गया तेरा दीवाना..
ये अब कोई और नहीं देखेगा.. ये साँसे निकलेगी शायद सिर्फ तेरे लिए..
मैं तुझे किसी और से ज्यादा प्यार करता हूँ..

prem kavita,प्रेयसी पर कविता

लोग कहते हैं कि समय मन के घावों को भरने की औषधि है,
लेकिन वास्तव में प्रेम मन के घावों को समय से अधिक तेजी से भर देता है।

साल का हर महीना.. महीने का हर हफ्ता, हफ्ते का हर
दिन, दिन का हर घंटा, घंटे का हर मिनट,
मिनट का हर सेकेंड, मुझे हर पल आपकी याद आती है।

prem kavita,

तेरा इंतज़ार करते-करते शाम निकल गई।
मेरी परछाई तब तक उसके साथ थी,
लेकिन वह मुझे अकेला छोड़कर भाग गई।

तुम रुको तो मैं एक याद बन जाऊँगा,
मैं तुम्हारे होठों पर एक गीत बन जाऊँगा,
एक बार जब तुम मुझे दिल से याद करोगे,
देखो, मैं तुम्हारे चेहरे पर एक प्यारी सी मुस्कान बन जाऊँगा

prem kavita,

मैंने सोचा था कि आप हाँ कहेंगे,
लेकिन जब आपने ना कहा, तो मुझे चिंता हुई।

तेरा नाम रेत पर की लहरों से मिटा दिया जाएगा।
मैं उन्हें अपने दिमाग से कैसे मिटा सकता हूं?
जो आसानी से आँसुओं से लिखा हुआ है उसे कौन पढ़ सकता है?

प्यार में भी प्यार था, प्यार में सब कुछ माफ कर दिया।

भूलकर… हजार वजहें ढूंढ़ लेंगे… कोई नहीं मिलेगा…
इतनी दूरी होगी.., तुम्हारे और मेरे बीच..,
फिर कभी याद नहीं आऊंगा,माँ बस साँस लूंगा…
मैं…तुम्हारा हक़ यह…, कभी नहीं होगा

prem kavita,प्रेयसी पर कविता 2022

न्यासाठी अब तुझे भूलने के लिए बहुत कुछ कर रहा हूँ..
तुझे भूल जाऊँगा, यही तो पक्का मन से फ़ैसला कर रहा हूँ।
लेकिन अनजाने में कहीं से हवा का झोंका आता है।
इस पागल मन को छू जाता है।
फिर से, अपने ही सपनों में, यह मुझे संलग्न करता है ..
एक दृढ़ मन। मन में रहता है।
और फिर, इसका मतलब होगा कि आपको इन प्रक्रियाओं के लिए खर्च करना होगा।

तेरे प्यार में वेड ने मेरा दिमाग खो दिया, मैं उसे कैसे समझ सकता हूँ?
दोस्ती प्यार में बदल जाती है, लेकिन प्यार को दोस्ती कैसे कहें?

prem kavita,

होतो एक पागल पल में,
ऐसा लगता है कि आपके करीब की आंखें दावा करती हैं
कि आप स्पष्ट रूप से दिखाई दे रहे हैं

अगर दर्द सिर्फ दिल के दम पर होता तो शायद वक्त ना आता उस खालीपन को भरने का,
अगर दर्द को शब्दों के दम पर बयां किया होता तो शायद जरूरत ही नहीं होती आंसू।
और अगर सब कुछ शब्दों में कहा जा सकता है, तो भावनाओं की कभी कीमत नहीं होगी।

समय बदलता है… ..
जीवन बदलते ही जीवन बदल जाता है। जब प्यार होता है
तो प्यार हमारे लोगों के साथ रोमर नहीं बदलता बल्कि हमारे लोग बदल जाते हैं…..
समय आने पर”

prem kavita,

मुझे इसे समय पर कवर करना चाहिए था,
मुझे अब इसकी चिंता करने की ज़रूरत नहीं है,
आपकी थोड़ी दूरी

कब हुआ, कब हुआ, पता नहीं कैसे,
पर दिल को प्यार हो गया, पता नहीं कब भागा, तुम मिले
और छोड़ गए, कभी तेरी नज़रों में अपना मन खोया,
कभी मन उलझा तुम्हारे बालों में, जब पूछा कि मेरे दिमाग में क्या चल रहा है,
तो तुमने कहा कि तुम्हें कुछ पता नहीं है, मेरा मन मेरी तरफ देखता भी नहीं,
तुमने शोर मचाया, अब मेरा नहीं है..

prem kavita,

शब्दों में दूरी है, गलती जीभ की है।
मन अपने आप होगा, झुरव मन दूसरे के लिए होगा। ठोकर खाने से दिमाग में दर्द होता है
और सिर में दर्द होता है। ऐसे पोते-पोतियों के साथ रहना ही वास्तविक जीवन होगा

मैं शब्दों के सागर में कूद कर शब्द खोज रहा हूं,
यह चारोली अपने प्यार का इजहार करने के लिए लिख रहा हूं।

मैं कभी शांत नहीं रहा.. मैं हर पल तुम्हें देख रहा था..!!
पास होते तो कभी निराश नहीं होते.. नहीं तो एक पल के लिए भी निराश क्यों होते..?

2022 prem kavita,प्रेयसी पर कविता

स्कूल में एक छो